कांग्रेस में कुछ लोग दादागिरी कर गांधी का रास्ता छोड गोडसे के रास्ते चल रहे हैं- उदयसिंह/गज्जु यादव(कांग्रेस नेता)

692

 

सुनील उत्तमराव साळवे(९६३७६६१३७८)
कार्यकारी संपादक, दखल न्यूज भारत नागपुर

रामटेक / नागपुर: २५ अगस्त २०२०
कांग्रेस पार्टी मे अध्यक्ष पद को लेकर महाराष्ट्र कांग्रेस नेताओं के बीच एक दुसरे के प्रति कडे रोष और विरोधी स्वर को लेकर घमसान मचा हुआ है। इस पर रामटेक के कांग्रेस नेता उदयसिंह ऊर्फ गज्जु यादव ने टीपणी करते हुए कहा है कि, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष के विषय पर जो मंथन चल रहा है, उस विषय पर कांग्रेस के 23 नेताओं ने सोनिया गांधी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष इन्हें पत्र लिखकर देश में चल रही है वर्तमान स्थिति से अवगत कराया कराया है ना कि उनके नेतृत्व पर सवाल खड़े किए । जिन नेताओं ने अपनी सारी जिंदगी निस्वार्थ भावना से कांग्रेस के लिए समर्पित की है उन्हें देश में जो भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के विरोध में वातावरण चल रहा है ऐसे समय हमारे पार्टी का आंतरिक कलह बाहर आना उचित नहीं है ।
जिसमें माननीय सोनिया गांधी राष्ट्रीय अध्यक्ष भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस इन्होंने खुद स्वास्थ्य कारणों और कार्यकारी अध्यक्ष पद पर 1 साल पूर्ण होते आने की वजह से पूर्णकालिक अध्यक्ष नियुक्त किया जाए और उनकी अध्यक्ष पद पर रहने की मंशा नहीं है ऐसा वक्तव्य किया ।
उसके बाद राहुल गांधी ने राष्ट्रीय अध्यक्ष पद स्वीकार से इनकार किया करने का वक्तव्य प्रसार माध्यम से आया । उसके बाद प्रियंका गांधी का वक्तव्य आया कि गांधी परिवार से कोई भी सदस्य पार्टी का अध्यक्ष नहीं होगा । ऐसे में कांग्रेस पार्टी खुद ही हंसी का पात्र होती जा रही है, ऐसे समय अपने राष्ट्रीय अध्यक्ष को सुझाव देकर, तुरंत नया अध्यक्ष नियुक्त करने के बारे में और इन सभी जो चल रहे घटनाक्रम पर विराम लगाने के लिए निवेदन देना यानी शीर्ष नेतृत्व पर सवाल खड़ा करना ऐसा नहीं होता ।
देश में कांग्रेस ही एक ऐसी पार्टी है, जहां छोटे से छोटा कार्यकर्ता जनतांत्रिक तरीके से अपना पक्ष वरिष्ठ नेतृत्व के सामने रख सकता है ।
परंतु कुछ लोग इस विषय को ज्यादा महत्व दे कर,खुद के स्वार्थ हेतु राजनीतिक द्वेष के चलते अपनी राजनीतिक रोटियां सेंकने का काम कर रहे हैं। कांग्रेस संस्कृति में दादागीरी की अशोभनीय भाषा का उपयोग कर रहे हैं । यह महात्मा गांधी जी के विचारों की पार्टी है, नाथूराम गोडसे के विचारों की नही ।
कांग्रेस नेता उदयसिंह ऊर्फ गज्जु यादव ने आगे बताया कि, मैं उन सभी नेताओं को यह तीव्र तेवर पार्टी के हित के लिए भाजपा के विरुद्ध इस्तेमाल करने का सुझाव देना चाहता हूं ।
मैं राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनियाजी से निवेदन करता हूं कि भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद पर माननीय राहुल गांधीजी को सभी कांग्रेस कार्यसमिती के सभी सदस्य और देश के सभी प्रदेश अध्यक्षों की मांग पर और देश के सभी कांग्रेस प्रेमी युवाओं की भावनाओं को ध्यान में रख कर नियुक्त कर दिया जाए । क्योंकि गांधी परिवार की छांव तले यह कांग्रेस पार्टी एक संग्रह रह सकती है ।
गांधी परिवार एक विशाल बरगद का वृक्ष है इस छांव का साया हटते ही पार्टी के अनेक लोग बिखर जाएंगे, यहां कोई किसी को मानने वाला नही है, सभी एक से बढ़कर एक है ।
इसीलिए जिन पूर्वजो ने इस देश की आजादी के लिए बलिदान दिया, कांग्रेस में रहकर अपना संपूर्ण जीवन समर्पित किया है ।उन सबकी भावनाओं का आदर करते राहुल गांधी जी इन्होंने राष्ट्रीय अध्यक्ष पद स्वीकार करना चाहिए यह निवेदन करता हूं ।
फिलहाल देश में जो कांग्रेस विरोधी वातावरण है, वह मोदीजी द्वारा जनता को दिखाए झूठे सपनों का परिणाम है । झूठ ज्यादा दिन नही चलता, समय जरूर बदलेगा । राहुल गांधी ने पार्टी का नेतृत्व स्वीकार करना चाहिए । यह मेरी और हर एक सामान्य कांग्रेस कार्यकर्ता की भावना है । ऐसा उदयसिंह / गज्जु यादव ने कहा है।